google-site-verification=OrvyYHNpisAswr3Idvj9dHHFWBmG8fiBDQ5zN3jFpNQ पूर्व सेना प्रमुख जनरल ने किया खुलासा मणिपुर मे हो रहे हिंसा का कारण -

पूर्व सेना प्रमुख जनरल ने किया खुलासा मणिपुर मे हो रहे हिंसा का कारण

Photo by : Mint

न्यूज़ को सुन्ने के लिए नीचे क्लिक कीजिये

ElevenLabs_2023-07-  👈🏻29T08_58_17.000Z_Rachel

पूर्व सेना प्रमुख जनरल ने किया खुलासा मणिपुर मे हो रहे हिंसा का कारण 

पूर्व सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे ने शुक्रवार को पत्रकारो के प्रश्न के उत्तर मे बयान देते हुए कहा कि मणिपुर हिंसा में विदेशी एजेंसियों के हाथ से ‘इनकार नहीं किया जा सकता। इंटरनेशनल सेंटर में ‘राष्ट्रीय सुरक्षा विषय पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान उन्होने मणिपुर हिंसा के बारे मे कहा।

जनरल (सेवानिवृत्त) नरवणे ने कहा कि पुर्वौतर राज्यों में अस्थिरता देश के राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए ठीक नहीं है। उग्रवादी संगठनों को चीन की मदद कई वर्षों से मिल रही है और यह अब तक जारी है।

पूर्व सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे ने कहा की पूर्वोतर राज्यो मे मादक पदार्थो की तस्करी भी बहुत अधिक मात्र मे होती है । कुछ वर्षो मे यहा तस्करी और ज्यादा बढ़ी है। जाहीर है तस्करी के पीछे बरे agency का हाथ है। मणिपुर मे भी अफीम की खेती की जाती है। यहा एक गोल्डेन ट्रायंगल का खेल चल रहा है। जो इस हिंसा को और आगे बढ़ाने का काम कर रहा है। क्यू की सरकार की तरफ से यहा drugs की खेती बैन कर दिया गया है। जिससे इन बरे agency का मार्केट मे नुकसान हो रहा है। म्यांमार में हमेशा अव्यवस्था और सैन्य शासन रहा है। म्यांमार पूर्वोतर राज्यो से ड्रग्स लेकर उसकी तस्करी करता है। यहा कुकी जाती के लोग बहुत परिमाण मे अफीम की खेती करते है और अपना समान म्यांमार को बेचते है। सरकार के बैन की वजह से उन्हे अपने business मे हानी हो रही थी। जिसके वजह से वो सरकार से नाराज थे। इसी बीच सरकार ने मेतेही समुदाय को अनुसूचित जनजाति का दर्जा दिये जाने पर वो भरक गए। क्यूकी इस्से मेतेही लोग कुकी के अफीम खेती के जमीन खरीद सकते है। और इशी बिरोध प्रदर्शन ने बाहरी ताकतों की सहायता से जातीय हिंसा मे बादल दिया। जिसका परिणाम सबके सामने है।

By नवीन

मै नवीन राई हिंदी ब्लॉग साइट न्यूज़दुनिया11 मे आपका स्वागत करता हु।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *